ट्रेनिंग कालेज लेक्चरर नियुक्ति परीक्षा के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर

पटना । पटना हाईकोर्ट मे आज बिहार के सरकारी टीचर्स ट्रेनिंग कालेजों मे लेक्चरर नियुक्ति प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित करवाने के लिए एक याचिका दायर किया गया. याचिकाकर्ता के वकील बरुण कुमार चौधरी ने बताया कि बिहार लोक सेवा आयोग एक संवैधानिक संस्था है. नियुक्ति प्रक्रिया के बीच मे वह सरकारी हस्तक्षेप को मानने के लिए बाध्य नहीं है. जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी की एकल पीठ ने भी अर्चना भारती बनाम बिहार सरकार के मामले मे ऐसा ही न्याय निर्णयन किया है. इस लिए बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा नियुक्ति प्रक्रिया के बीच मे ट्रेनिंग कालेज लेक्चरर नियुक्ति परीक्षा स्थगित कर देना जायज नहीं है. परीक्षा स्थगन आदेश को रद्द करने के लिए ही यह याचिका दायर किया गया है. परीक्षा स्थगन आदेश से करीब 6000 अभ्यर्थियों का कैरियर अधर मे लटक गया है. बताते चलेंं कि एक वर्ष पूर्व पटना हाईकोर्ट के हस्तक्षेप के बाद बिहार लोक सेवा आयोग ने राज्य के सरकारी टीचर्स ट्रेनिंग कालेजों के लेक्चरर के नवसृजित 1060 पदों पर नियुक्ति के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरु की थी. आयोग ने नियुक्ति परीक्षा की तिथि 26, 27 और 29 मई तय की थी. लेकिन आयोग ने 16 मई को यह नियुक्ति परीक्षा स्थगित कर दी थी.

 




3 thoughts on “ट्रेनिंग कालेज लेक्चरर नियुक्ति परीक्षा के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर

  1. अजय कुमार तिवारी

    वाकई बिहार में जन्म लेने और बिहारी होने का दंश तो अभ्यर्थियों को भुगतना ही पड़ेगा । उक्त परीक्षा के तमाम अभ्यर्थियों के भावी जीवन के साथ बिहार सरकार और आयोग ने न केवल एक घनौना खेल खेला है बल्कि गुणवत्ता शिक्षा की नीलामीकरण करने का कार्य भी किया है ।

    Reply
  2. VishnuJee

    Sorry Tiwari ji. This appeal is not only illegal but also against the our constitution and principles of natural justice. So I disagreewith you. Thanks.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *