विश्वविद्यालय शिक्षकों के लिए ओरिएंटेशन आवश्यक: प्रो.सिंहा

पटना । विश्वविद्यालय और कॉलेज में अध्यापन करने वाले शिक्षकों के लिए ओरिएंटेशन कोर्स आवश्यक है. इससे उन्हें अध्ययन-अध्यापन के नवाचारी तकनीकों से अवगत होने का मौका मिलता है. उनके अध्यापन क्षमता का विकास होता है. ये बातें पटना विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो. डॉली सिन्हा ने कही. प्रो. सिंहा ने कहा कि बेहतर तरीके से अध्यापन के लिए शिक्षकों को स्वाध्याय करना चाहिए एवं सूचना एवं प्रौद्योगिकी उपकरणों का भी प्रयोग करना चाहिए. उन्हें पढ़ाने के सामाजिक दायित्व को भी बखूबी निभाना चाहिए. वे आज पटना ट्रेनिंग कॉलेज सभागार में 77 वें ओरिएंटेशन कोर्स के समापन समारोह को संबोधित कर रही थीं. समारोह का आयोजन पटना विश्वविद्यालय के यूजीसी-ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट सेंटर ने किया था.

इससे पहले यूजीसी-ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट सेंटर के डायरेक्टर प्रो. चन्द्रमा सिंह  आगत अतिथियों का स्वागत किया.

समारोह को यूजीसी-ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट सेंटर के पूर्व-डायरेक्टर प्रो. आर. पी. सिंह राही, डॉ. मो. सईद आलम, डॉ. डी. एन ठाकुर, डॉ. ललित कुमार आदि ने संबोधित किया.