News Flash
Search

दुनियां में सबसे ताकतवर है शिक्षा: राज्यपाल

पटना । बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि शिक्षा से बढ़कर दुनियाँ मेें कोई चीज ताकतवर नहीं. इसके जरिये सब कुछ हासिल किया जा सकता है. जो बच्चे बेहतर ढंग से शिक्षा हासिल कर लेते हैं, फिर आसमान ही उनकी सीमा होती है. महामहिम आज राजभवन संचालित ‘बिहार राज्य बाल कल्याण परिषद’ द्वारा राजभवन परिसर स्थित राजेन्द्र मंडप में आयोजित ‘बाल दिवस-समारोह’ को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि डेढ़ वर्ष के बाल्यकाल में ही जब मुझसे पिता की छत्र-छाया छीन गयी, तब से बाद की जिन्दगी में सिर्फ शिक्षा ही मुझे आगे बढ़ाते रहने में मददगार साबित हुई. उन्होंने बच्चों से गुजारिश की कि वे खूब पढ़ें और सतत आगे बढ़ते रहें.
राजभवन में आयोजित ‘बाल दिवस-समारोह’ में आज ‘किलकारी’, बाल्डवीन एकेडमी, इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, राजभवन राजकीय कन्या विद्यालय के बच्चों द्वारा रंगमय सांस्कृतिक क्रम’ की प्रतियोगिता में ‘किलकारी’ के बच्चों के उड़िया नृत्य ‘गोटी पुआ’ को प्रथम, राजकीय कन्या मध्य विद्यालय के ‘स्वच्छता अभियान नृत्य’ को द्वितीय, बाल्डवीन एकेडमी के बच्चों के नृत्य कार्यक्रम -‘उड़ान’ को तृतीय तथा इंटरनेशनल स्कूल की प्रस्तुति ‘बालिका शिक्षा नृत्य’ को सांत्त्वना पुरस्कार राज्यपाल द्वारा प्रदान किये गये. राज्यपाल ने चित्रांकन प्रतियोगिता के विभिन्न उम्र वर्गों में अलग-अलग प्रथम पुरस्कार प्राप्त करनेवाले बाल-चित्रकारों -नव्या सिंह, शान्वी प्रिया, मो. कमाल अरशद, सी.पी. रूचि, अमृता कुमारी तथा एम.आर. युवराज एवं दिव्यांग कोटि के बच्चों में -चंदना मुखर्जी, अभिषेक गुप्ता, जोनिदा, स्वाति कुमारी आदि को भी ट्राWफियाँ पुरस्कारस्वरूप प्रदान की. कार्यक्रम में जूडो-कराटे में राज्य को अन्तर्राष्ट्रीय पहचान दिलाने वाली छोटी बच्ची आद्या को भी राज्यपाल ने ट्राफी प्रदान की. बाल कलाकारों के साथ राज्यपाल की समूह फोटोग्राफी भी हुई. कार्यक्रम में स्वागत-भाषण राज्यपाल के प्रधान सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा, धन्यवाद-ज्ञापन अपर सचिव विजय कुमार एवं कार्यक्रम संचालन सोमा चक्रवर्ती ने किया.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *