News Flash
Search

बवाल के बाद बीएचयू 2 अक्टूबर तक बंद

बनारस (कुंवर पुष्पेन्द्र प्रताप सिंह)। छात्राओं के साथ हुए छेड़खानी के मामले में दो दिनों से बीएचयू कैम्पस में हो रहे बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. परिसर में धारा 144 लगे रहने के बावजूद प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं ने आज फिर आगजनी और पथराव किया. लिहाजा पुलिस को लाठी चार्ज करनी पड़ी. बीएचयू प्रशासन ने एहतियातन विश्वविद्यालय को 2 अक्टूबर तक के लिए बंद कर दिया है. आज दोपहर 12 बजे ब्रोचा छात्रावास के सामने से गुजर रहे ट्रेक्टर में आग लगा दी गई. एलडी गेस्ट हाउस चौराहे पर शांति मार्ग निकाल रही छात्राओं पर प्राक्टोरियल बोर्ड के सुरक्षाकर्मियों ने लाठीचार्ज कर दिया. लाठीचार्ज में आधा दर्जन छात्राओं के घायल होने की सूचना है. इसके बाद त्रिवेणी छात्रावास के पास आन्दोलनकारियों ने जमकर पथराव किया.  मौके पर पहुंचे सुरक्षाकर्मियों ने लाठी पटककर आन्दोलनकारियों को तितर-बितर कर दिया.

बीएचयू कैम्पस धारा 144 सभी हॉस्टल खाली करने के आदेश

छात्र-छात्राओं के बवाल के बाद बीएचयू कैम्पस में धारा 144 लगा दिया गया है. कैम्पस को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है. विश्वविद्यालय प्रशासन ने सभी हॉस्टल को खाली करने के आदेश दिया है. कैम्पस और हॉस्टल खास कर गर्ल्स हॉस्टल इलाके में सीसीटीवी लगाया जा रहा है. विश्वविद्यालय को आज से ही 2 अक्टूबर तक के लिए बंद कर दिया गया है. हालांकि विश्वविद्यालय में 25 अक्टूबर के बाद दुर्गा पूजा की छुट्टी होनी थी लेकिन एहतियातन इसे आज से ही बंद कर दिया गया है.

लखनऊ मेंं धरना पर बैठे मीडियाकर्मी 

पुलिस ने बीएचयू आंदोलन का कवरेज कर रहे मीडियाकर्मियों को भी नहीं बख्सा. लाठीचार्ज मेंं  कई प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडियाकर्मी घायल हो गये. पुलिसिया बर्बरता के खिलाफ मीडियाकर्मी आज लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने धरना पर बैठ गए.

शनिवार की रात ऐसे भड़की आंदोलन की आग

 विगत 40 घंटे से सड़क पर धरना-प्रदर्शन कर रहीं छात्राओं के प्रति बीएचयू प्रबंधन संवेदनशील रुख अपनाता तो शायद परिसर अशांत होने से बच जाता. छात्राएं वीसी को धरनास्थल पर बुलाने पर अड़ी थीं. शनिवार की रात 8:30 बजे छात्राओं से बात करने कुलपति प्रो. गिरीश चन्द्र त्रिपाठी त्रिवेणी हॉस्टल जा रहे थे तभी छात्रों ने नारेबाजी शुरू कर दी. इससे नाराज होकर कुलपति बिना वार्ता किए लौट गए. इसके बाद करीब डेढ़ सौ छात्र -छात्राओं ने कुलपति आवास में घुस कर बवाल करने लगे. एम एम वी की छात्राओं पर कुलपति और जिला प्रशासन के आदेश पर बिना महिला पुलिस को साथ लिए पुलिस ने बर्बरता पूर्वक लाठी चार्ज कर दिया. साथ ही हवाई फायरिंग भी किया गया. पुलिसिया कार्रवाई में दो छात्र और एक छात्रा के घायल होने की खबर है. सभी को बीएचयू अस्पताल के ट्रामा सेंटर में ईलाज हेतु भर्ती करवाया गया है. बीएचयू एडमिनिस्ट्रेशन और प्राक्टोरियल बोर्ड की निरंकुशता की वजह से ऐसी घटनाएं हुई. कुलपति प्राक्टोरियल बोर्ड पर कार्ररवाई करने की बजाय छात्राओं और छात्रों पर लाठीचार्ज करवा रहे हैं.

दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी: कुलपति

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. गिरीश चन्द्र त्रिपाठी ने आज मीडिया से कहा कि विश्विद्यालय परिसर में बाहरी लोगों के इशारे पर राजनीति की जा रही है. कैम्पस को अस्थिर करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.  साथ ही विश्वविद्यालय की सुरक्षा योजना बनाने में सीनियर छात्राओं को शामिल किया जाएगा.

 

 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *